अंक ३ की असर…

जो जातक का जन्म किसी भी मास की ३, १२, २१, या ३० तारीख को हुआ हो उन सभी लोगों पर अंक ३ की असर देखने को मिलती है।

और उसमें भी विशेष रूप से २१ नवम्बर से २० दिसम्बर / २० फरवरी से २० मार्च तक जन्म हुआ है तो उसके उपर अंक ३ और गुरु ग्रह की असर दिखाई देती है। अंक ३ का प्रतिनिधित्व ग्रह गुरु है।

अंक ३ शिक्षा,  संस्कार,  व्यवस्था,  धर्म,  ज्ञान,  न्याय,  महत्वाकांक्षा,  कर्तव्य दर्शाता है। जातक आत्मविश्वासी और महत्वकांक्षी होता है। स्वयं शिस्त में रहते हैं और सभी शिस्त में रहे वही चाहता है। उसकी मानसिक और आध्यात्मिक शक्ति उच्च प्रकार की होती हैं।

अंक ३ वाले को जिवन में संघर्ष करना पड़ता है। वे विवेकपूर्ण, शांत और गंभीर होते हैं। स्त्रियाँ प्रमाणिक और रूढ़िवादी होती है।

निषेधात्मक रूप से ३ अंक वाले लोगों में निंदा करने की वृत्ति और स्त्रियाँ में संकुचितता और टक टक करने की आदत होती है।

अंक ३ वालो के लिए शुभ तारीख ३, १२,  २१, ३० है।

गुरुवार उनके लिए शुभ है और पीला,  गुलाबी रंग शुभ रंग है।

उन को पेट के रोग,  कफ, स्नायु की पीड़ा और मेद रोग होने की संभावना है या तो देखने को मिल सकता है। अंक ३ का शत्रु अंक ५ और मित्र अंक ३, ६, ९, २, ८ है।

जनवरी और जुलाई ये मास उनके लिए कमजोर समय है और भाग्योदय वर्ष २१ और २७ है। शुभ धातु सुवर्ण (gold) हैं। (AstroAgile)

 

 

Advertisements